JSW इंफ्रास्ट्रक्चर और अपडेटर सर्विसेज का Initial public offering आज से ओपन:वैलेंट लेबोरेटरीज में भी इस हफ्ते निवेश का मौका, मिनिमम इन्वेस्टमेंट ₹14,700

Table of Contents

JSW इंफ्रास्ट्रक्चर और अपडेटर सर्विसेज का Initial public offering आज से ओपन:वैलेंट लेबोरेटरीज में भी इस हफ्ते निवेश का मौका, मिनिमम इन्वेस्टमेंट ₹14,700

इस हफ्ते शेयर मार्केट में लिस्टिंग के लिए तीन इनिशियल पब्लिक ऑफर (Initial public offering) ओपन हो रहे हैं। इसमें से JSW इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड और अपडेटर सर्विसेज लिमिटेड आज ओपन हो गए हैं। वहीं, वैलेंट (Fearless) लेबोरेटरीज लिमिटेड का Initial public offering 27 सितंबर को ओपन होगा। आइए इन तीनों कंपनियों के Initial public offering के बारे में एक-एक करके जानते हैं।

JSW इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड
JSW इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड इस Initial public offering के जरिए ₹2,800 करोड़ जुटाना चाहती है। यह 100 percent फ्रेश इश्यू होगा, जिसके लिए कंपनी 235,294,118 शेयर इश्यू करेगी। रिटेल निवेशक इस Initial public offering के लिए आज से 27 सितंबर तक अप्लाय कर सकते हैं। 6 अक्टूबर को कंपनी के शेयर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर लिस्ट होंगे।

image 67

कंपनी ने इस इश्यू का प्राइस बैंड ₹113-₹119 तय किया है। रिटेल निवेशक मिनिमम एक लॉट यानी 126 शेयर्स के लिए बिडिंग कर सकते हैं। यदि आप Initial public offering के अपर प्राइज बैंड ₹119 के हिसाब से 1 लॉट के लिए अप्लाय करते हैं, तो इसके लिए ₹14,994 इन्वेस्ट करने होंगे।

मैक्सिमम 1638 शेयर के लिए बिडिंग कर सकते हैं रिटेल निवेशक
JSW इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के Initial public offering के लिए रिटेल निवेशक मैक्सिमम 13 लॉट यानी 1638 शेयरों के लिए बिडिंग कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें अपर प्राइज बैंड के हिसाब से ₹1,94,922 खर्च करने होंगे।

ग्रुप की तीसरी कंपनी मार्केट में लिस्ट होगी
JSW इंफ्रास्ट्रक्चर, JSW ग्रुप की तीसरी कंपनी है जो शेयर बाजार में लिस्ट होगी। ग्रुप की अन्य लिस्टेड कंपनियों में JSW एनर्जी और JSW स्टील शामिल हैं।

अपडेटर सर्विसेज लिमिटेड
अपडेटर सर्विसेज लिमिटेड इस Initial public offering के जरिए ₹640 करोड़ जुटाना चाहती है। इसके लिए कंपनी ₹400 करोड़ के फ्रेश शेयर इश्यू करेगी। जबकि ₹240 करोड़ के शेयर कंपनी के मौजूदा शेयर होल्डर ऑफर फॉर सेल के जरिए बेचेंगे।

रिटेल निवेशक इस Initial public offering के लिए आज से 27 सितंबर तक अप्लाय कर सकते हैं। 9 अक्टूबर को कंपनी के शेयर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर लिस्ट होंगे।

अपडेटर सर्विसेज लिमिटेड का प्राइस बैंड ₹280-₹300
अपडेटर सर्विसेज लिमिटेड ने इस इश्यू का प्राइस बैंड ₹280-₹300 तय किया है। रिटेल निवेशक मिनिमम एक लॉट यानी 50 शेयर्स के लिए बिडिंग कर सकते हैं। यदि आप Initial public offering के अपर प्राइज बैंड ₹300 के हिसाब से 1 लॉट के लिए अप्लाय करते हैं, तो इसके लिए ₹15,000 इन्वेस्ट करने होंगे।

जबकि रिटेल इन्वेंटर्स इस इश्यू में मैक्सिमम 13 लॉट यानी 650 शेयर्स के लिए अप्लॉय कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें अपर प्राइज बैंड के हिसाब से ₹1,95,000 खर्च करने होंगे।

वैलेंट लेबोरेटरीज लिमिटेड
वैलेंट लेबोरेटरीज लिमिटेड इस Initial public offering के जरिए ₹152.46 करोड़ जुटाना चाहती है। यह 100 percent फ्रेश इश्यू होगा, जिसके लिए कंपनी 10,890,000 शेयर इश्यू करेगी। रिटेल निवेशक इस Initial public offering के लिए 3 अक्टूबर से 5 अक्टूबर तक अप्लाय कर सकते हैं। 9 अक्टूबर को कंपनी के शेयर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर लिस्ट होंगे।

वैलेंट लेबोरेटरीज ने इस इश्यू का प्राइस बैंड ₹133-₹140 तय किया है। रिटेल निवेशक मिनिमम एक लॉट यानी 105 शेयर्स के लिए बिडिंग कर सकते हैं। यदि आप Initial public offering के अपर प्राइज बैंड ₹140 के हिसाब से 1 लॉट के लिए अप्लाय करते हैं, तो इसके लिए ₹14,700 इन्वेस्ट करने होंगे।

मैक्सिमम 1365 शेयर के लिए बिडिंग कर सकते हैं रिटेल निवेशक
वैलेंट लेबोरेटरीज लिमिटेड के Initial public offering के लिए रिटेल निवेशक मैक्सिमम 13 लॉट यानी 1365 शेयर्स के लिए बिडिंग कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें अपर प्राइज बैंड के हिसाब से ₹191,100 खर्च करने होंगे।

रिटेल इनवेस्टर्स के लिए दो Initial public offering में 10% और एक में 35% हिस्सा रिजर्व
JSW इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड और अपडेटर सर्विसेज लिमिटेड ने अपने-अपने Initial public offering का 75% हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स (QIP) के लिए रिजर्व रखा है। इसके अलावा 10% हिस्सा रिटेल इनवेस्टर्स और बाकी 15% हिस्सा नॉन-इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स (NII) के लिए रिजर्व है।

वहीं, वैलेंट लेबोरेटरीज लिमिटेड ने Initial public offering का half हिस्सा QIP, 15% हिस्सा NII और 35% हिस्सा रिटेल इनवेस्टर्स के लिए रिजर्व रखा है।

Table of Contentslatest news

Leave a Comment

0Shares